यूपीएससी आईएएस मेन्स सिलेबस हिंदी में | UPSC Mains Syllabus in Hindi 2023

यूपीएससी आईएएस मेन्स यूपीएससी में सफलता पाने की वो कुंजी या पड़ाव है, यदि कोई अभ्यर्थी इस पड़ाव को पार कर लेता है तो यूपीएससी में सफलता पाने में उसे कोई रोक नहीं सकता है | यदि यूपीएससी के मेन्स परीक्षा में सफलता पानी है तो अभ्यर्थी को सबसे पहले यूपीएससी मेन्स परीक्षा की विशाल एवं विविध सिलेबस को पूरी तरह से समझकर और अपनी मजबूती एवं कमजोरी को ध्यान में रखते हुए रणनीति तैय करनी होगी | यूपीएससी आईएएस मेन्स सफलता पाने के लिए परीक्षा पैटर्न टीम की और से यूपीएससी आईएएस मेन्स का सम्पूर्ण सिलेबस हिंदी भाषा विस्तार से दिया जा रहा है | UPSC Mains Syllabus को Hindi में जानने से पहले आप यूपीएससी प्रीलिम्स परीक्षा का सम्पूर्ण सिलेबस हिंदी में पढ़े |

जैसा कि आप और हम जानते है कि यूपीएससी भारत के सबसे कठिन परीक्षाओं में अव्वल नंबर पर है इसके साथ साथ यह भी जानना जरुरी हो जाता है कि यूपीएससी भारत के उन संस्थानों में आती है जो कि भारत के प्रशासनिक अधिकारी को नियुक्त करते है | यूपीएससी आईएएस, आईपीएस, आईआरएस जैसे अधिकारी बनाते है | पिछले कुछ सालों में देखा गया है कि यूपीएससी प्रत्येक साल लगभग 1000 वैकंसी निकालती है तथा लगभग 10,00,000 से अधिक बच्चे फॉर्म को भरते है तथा परीक्षा देते है |

UPSC IAS Mains Syllabus in Hindi

यूपीएससी आईएएस मेन्स सिलेबस के अनुसार मेन्स में कुल 9 पेपर होते है जिसमें दो क्वालीफाइंग और अन्य पेपर मेरिट पेपर होता है | मेरिट पेपर के कुल अंक 1750 होता है जिसके आधार पर अभ्यर्थी को अंक मिलते है | यूपीएससी आईएएस मेन्स सिलेबस के नौ पेपरों के नाम और उनके अंक नीचे दिए जा रहे है | यूपीएससी आईएएस मुख्य परीक्षा के 9 पेपर में, चार पेपर सामान्य अध्ययन की, दो पेपर वैकल्पिक विषय की, दो पेपर भाषा की एवं एक पेपर निबंध की होती है |

  • भारतीय भाषा (भारतीय संविधान के अनुसूची 8 के तहत प्रत्येक मान्यता प्राप्त भाषा)
  • अंग्रेजी
  • निबंध
  • सामान्य अध्ययन 1
  • सामान्य अध्ययन 2
  • सामान्य अध्ययन 3
  • सामान्य अध्ययन 4
  • वैकल्पिक विषय 1
  • वैकल्पिक विषय 2

यूपीएससी मेन्स सिलेबस हिंदी में

  • भारतीय भाषा – हमारे संविधान के अनुसूची 8 के तहत प्रत्येक माननीय भाषा का चयन आप इस पेपर में कर सकते है तथा आपके द्वारा चयन की गयी भाषा की परीक्षा आपको देनी होगी | यह क्वालीफाइंग पेपर होता है तथा 300 अंकों का होता है |
  • अंग्रेजी – यूपीएससी मेन्स में अंग्रेजी भाषा का भी एक पेपर होता है जिसे आपको क्वालीफाई करना आवश्यक होता है क्यूंकि यह क्वालीफाइंग पेपर होता है तथा 300 अंकों का होता है |
  • निबंध – यूपीएससी मेन्स सिलेबस के अनुसार यूपीएससी मेन्स परीक्षा में एक निबंध पेपर भी होता है जो कि 250 अंकों का होता है तथा मेरिट पेपर होता है |
  • सामान्य अध्ययन पेपर – यूपीएससी मेन्स सिलेबस के अनुसार यूपीएससी मेन्स परीक्षा में चार GS पेपर होता है, प्रत्येक 250 अंकों का होता है तथा मेरिट पेपर होता है |
  • वैकल्पिक विषय पेपर – यूपीएससी मेन्स सिलेबस के अनुसार यूपीएससी मेन्स परीक्षा में वैकल्पिक विषय के दो पेपर होते है, प्रत्येक 250 अंकों का होता है तथा मेरिट पेपर होता है |
सामान्य अध्ययन 1भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व का इतिहास एवं भूगोल तथा समाज
सामान्य अध्ययन 2शासन व्यवस्था, संविधान, राजव्यवस्था, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध
सामान्य अध्ययन 3प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा- प्रबंधन
सामान्य अध्ययन 4नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिवृत्ति
upsc mains syllabus in hindi
UPSC-IAS-Mains-Syllabus-in-Hindi-PDF
UPSC IAS Mains Syllabus in Hindi PDF

आईएएस मेन्स भारतीय भाषा सिलेबस

  • एक निबंध 100 अंकों का होता है |
  • कॉम्प्रिहेंशन 60 अंकों का होता है |
  • प्रिसिस राइटिंग 60 अंकों का होता है |
  • व्याकरण से सम्बंधित प्रश्न 40 अंको का होता है |
  • अनुवाद 20 अंकों का जिसमें आपको अंग्रेजी से जिस भारतीय भाषा का आप चयन करेंगे उस भाषा में करना होता है |
  • अनुवाद 20 अंकों का जिसमें आपको जिस भारतीय भाषा का आप चयन करेंगे उस भाषा से अंग्रेजी में करना होता है |

आईएएस मेन्स अंग्रेजी सिलेबस हिंदी में

  • एक निबंध 100 अंकों का होता है |
  • कॉम्प्रिहेंशन 60 अंकों का होता है |
  • प्रिसिस राइटिंग 60 अंकों का होता है |
  • व्याकरण से सम्बंधित प्रश्न 40 अंको का होता है |
  • अनुवाद 20 अंकों का जिसमें आपको अंग्रेजी से जिस भारतीय भाषा का आप चयन करेंगे उस भाषा में करना होता है |
  • अनुवाद 20 अंकों का जिसमें आपको जिस भारतीय भाषा का आप चयन करेंगे उस भाषा से अंग्रेजी में करना होता है |

UPSC Mains Nibandh Syllabus in Hindi

यूपीएससी मेन्स के निबंध पेपर कुल 250 अंकों की होती है, इस पेपर में दो निबंध लिखने होते है | प्रत्येक निबंध 125 अंको का होता है प्रत्येक निबंध 1000 से 1200 शब्दों में लिखना होता है | यूपीएससी उम्मीदवार से आशा करते हैं कि उम्मीदवार निबंध के विषय को ध्यान में रखते हुए उम्मीदवार निबंध के विषय पर अपनी विचार प्रकट करें और निबंध को संक्षेप में लिखें | निबंध का विषय सामान्य अध्ययन पेपर के विषय से संबंधित और दर्शन शास्त्र पर आधारित होता है |

निबंध पेपर लिखते समय अभ्यर्थी को इन बातों को केंद्र में रखकर निबंध लिखना चाहिए –

  • यूपीएससी उम्मीदवार निबंध के विषय से भटके नहीं और भूमिका पहले लिखे |
  • उम्मीदवार को निबंध के लिए निर्धारित सीमा को ध्यान में रखते हुए लिखना चाहिए |
  • उम्मीदवार निबंध के विषय पर अपनी प्रभावशाली एवं सटीक अभिव्यक्ति दे |

UPSC IAS Mains GS Paper 1 Syllabus in Hindi

  • भारत की संस्कृति की प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला, साहित्य और वास्तुकला के रूप |
  • 18वीं सदी के मध्य से लेकर अभी तक का आधुनिक भारत का इतिहास, होने वाले महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व।
  • भारतीय स्वतंत्रता संग्राम, इसके विभिन्न रूप और देश के अलग अलग भागों से भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान देने वाले महत्त्वपूर्ण व्यक्ति एवं उनका योगदान।
  • स्वतंत्रता के पश्चात् देश के अंदर भारत का एकीकरण और भारत का पुनर्गठन।
  • विश्व के इतिहास में 18वीं सदी के बाद की घटनाएँ तथा औद्योगिक क्रांति, विश्व युद्ध, राष्ट्रीय सीमाओं का पुनःसीमांकन, उपनिवेशवाद, उपनिवेशवाद की समाप्ति, दर्शन जैसे साम्यवाद, पूंजीवाद, समाजवाद आदि, इनके रूप और समाज पर इनका प्रभाव। भारतीय समाज की विविधता एवं विशेषताएँ |
  • भारतीय महिलाओं की भूमिका और भारत में महिला संगठन, जनसंख्या एवं संबद्ध मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएँ |
  • भारतीय समाज पर भूमंडलीकरण का प्रभाव, सामाजिक सशक्तीकरण, संप्रदायवाद, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता।
  • विश्व के भौतिक भूगोल की प्रमुख्य विशेषताएँ।
  • विश्व भर के मुख्य प्राकृतिक संसाधनों का वितरण (खासकर दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप में), विश्व एवं भारत के विभिन्न भागों में प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक क्षेत्र के उद्योगों को स्थापित करने में ज़िम्मेदार कारक।
  • भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखीय हलचल, चक्रवात आदि जैसी महत्त्वपूर्ण भू-भौतिकीय घटनाएँ, भौगोलिक विशेषताएँ और वनस्पति एवं प्राणिजगत में परिवर्तन

यूपीएससी मेन्स GS Paper 2 सिलेबस

  • भारतीय संविधान, संविधान के ऐतिहासिक आधार, विकास, संविधान की विशेषताएँ, संविधान में संशोधन, महत्त्वपूर्ण प्रावधान और बुनियादी संरचना।
  • संविधान में संघ एवं राज्यों के कार्य तथा उत्तरदायित्व, संघ से संबंधित विषय एवं चुनौतियाँ, संघ एवं राज्य की शक्तियों और वित्त हस्तांतरण, भारतीय संवैधानिक योजना एवं दूसरे देशों के साथ तुलना।
  • भारतीय संसद और भारतीय राज्य विधायिका, इसकी संरचना, इसकी कार्य, इसकी कार्य-संचालन, इसकी शक्तियाँ एवं विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले विषय।
  • भारतीय कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्, भारतीय सरकार के मंत्रालय एवं विभाग, औपचारिक/अनौपचारिक संघ तथा शासन प्रणाली में उनकी भूमिका।
  • जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएँ। विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति और विभिन्न संवैधानिक निकायों की शक्तियाँ, कार्य और उत्तरदायित्व।
  • सांविधिक, विनियामक और विभिन्न अर्द्ध-न्यायिक निकाय। सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिये हस्तक्षेप और उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय।
  • विकास प्रक्रिया तथा विकास उद्योग- गैर-सरकारी संगठनों, स्वयं सहायता समूहों, विभिन्न समूहों और संघों, दानकर्ताओं, लोकोपकारी संस्थाओं, संस्थागत एवं अन्य पक्षों की भूमिका।
  • केन्द्र एवं राज्यों द्वारा जनसंख्या के संवेदनशील वर्गों के लिये कल्याणकारी योजनाएँ और इनका निष्पादन, इन वर्गों की रक्षा एवं बेहतरी के लिये गठित तंत्र, विधि, संस्थान एवं निकाय।
  • भारतीय शासन व्यवस्था, पारदर्शिता और जवाबदेही के पक्ष, ई-गवर्नेंस के अनुप्रयोग, मॉडल, सफलताएँ, सीमाएँ और संभावनाएँ, नागरिक चार्टर।
  • लोकतंत्र में सिविल सेवाओं की भूमिका। भारत एवं इसके पड़ोसी- संबंध।
  • भारत से संबंधित और भारत के हितों को प्रभावित करने वाले द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह
  • भारत के हितों पर अन्य देशों की नीतियों तथा राजनीति का प्रभाव, प्रवासी भारतीय एवं महत्त्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएँ और मंच एवं उनकी संरचना।

UPSC Mains GS Paper 3 Syllabus

  • भारतीय अर्थव्यवस्था तथा योजना, भारत में संसाधनों को जुटाने, प्रगति, विकास तथा रोज़गार,
  • समावेशी विकास तथा इससे उत्पन्न विषय एवं सरकारी बजट
  • देश के विभिन्न भागों में फसलों का पैटर्न, सिंचाई के प्रकार एवं सिंचाई प्रणाली, कृषि उत्पाद का भंडारण, परिवहन, किसानों की सहायता के लिये ई-प्रौद्योगिकी।
  • प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कृषि सहायता तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य, सीमाएँ, सुधार, तथा खाद्य सुरक्षा संबंधी, प्रौद्योगिकी मिशन, पशु पालन
  • भारत में खाद्य प्रसंस्करण एवं संबंधित उद्योग, भारत में भूमि सुधार। उदारीकरण का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव, औद्योगिक नीति तथा प्रभाव।
  • भारत में बुनियादी ढाँचाः ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, विमानपत्तन, रेलवे आदि। निवेश मॉडल।
  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी- विकास एवं अनुप्रयोग और भारतीयों की उपलब्धियाँ एवं रोज़मर्रा के जीवन पर इसका प्रभाव।
  • सूचना प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष, कंप्यूटर, रोबोटिक्स, टैक्नोलॉजी और बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित विषयों के संबंध में जागरुकता।
  • पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, पर्यावरण प्रभाव का आकलन। आपदा और उनका प्रबंधन। विकास और फैलते उग्रवाद के बीच संबंध।
  • आंतरिक सुरक्षा के लिये चुनौती उत्पन्न करने वाले शासन विरोधी तत्त्वों की भूमिका।
  • संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती, आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया
  • सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, साइबर सुरक्षा की बुनियादी बातें, धन-शोधन और इसे रोकना।
  • सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा एवं चुनौतियाँ और आतंकवाद । विभिन्न सुरक्षा बल और संस्थाएँ तथा उनके अधिदेश।

UPSC IAS Mains GS Paper 4 Syllabus in Hindi

  • भारत तथा विश्व के नैतिक विचारक व दार्शनिक एवं उनके योगदान।
  • भावनात्मक समझः धारणाएँ व प्रशासन एवं शासन व्यवस्था में उपयोग और प्रयोग।
  • सिविल सेवा के लिये अभिरुचि – सत्यनिष्ठा, भेदभाव रहित, निष्पक्षता, समर्पण सेवा भाव, कमज़ोर वर्गों के प्रति सहानुभूति व संवेदना।
  • लोक प्रशासन में लोक सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र, समस्याएँ, सरकारी व निजी संस्थानों,
  • नैतिक मार्गदर्शन के स्रोत, नियम, अंतरात्मा, उत्तरदायित्व तथा नैतिक शासन
  • नीतिशास्त्र व मानवीय संबंध, मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार, निर्धारक व परिणाम, इसके आयाम
  • महान नेता, सुधारक और प्रशासक के जीवन उपदेशों से शिक्षा

यूपीएससी आईएएस मेन्स वैकल्पिक विषय सिलेबस

यूपीएससी मेन्स में दो वैकल्पिक पेपर होता है जिसमे प्रत्येक पेपर 250 अंकों का होता है | वैकल्पिक विषय अर्थात आप अपनी इच्छा से किसी भी विषय को चुन सकते हो परन्तु नीचे दिए गए सूची में से | यूपीएससी मेन्स के वैकल्पिक विषय सूची में से किसी भी विषय को आप चुन सकते हो जिसमे आपसे दो पेपर की परीक्षा ली जायेगी | यूपीएससी मेन्स के वैकल्पिक विषय के प्रत्येक प्रश्नपत्र में 8 प्रश्न पूछे जाते है जिसमे 5 प्रश्नों का उत्तर देना होता है | प्रत्येक प्रश्न 50 अंकों की होती है इस तरह प्रत्येक प्रश्नपत्र 250 अंकों की होती है |

  • इतिहास
  • भूगोल
  • अर्थशास्त्र
  • भौतिक विज्ञान
  • रसायन विज्ञान
  • वनस्पति विज्ञान
  • प्राणि विज्ञान
  • मैथमेटिक्स
  • आंकड़े (सांख्यिकी)
  • कॉमर्स और एकाउंटेंसी
  • सिविल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • भूगर्भशास्त्र
  • समाजशास्त्र
  • दर्शनशास्त्र
  • कानून
  • पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन
  • राजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध
  • चिकित्सा विज्ञान
  • मनोविज्ञान
  • पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञान
  • कृषि
  • एंथ्रोपोलॉजी
  • मैनेजमेंट

UPSC IAS Mains Syllabus in Hindi से संबंधित प्रश्न

मेंस में कितने पेपर होते हैं?
UPSC मेंस में नौ पेपर (प्रश्नपत्र) होते है |

यूपीएससी में कितने सब्जेक्ट होते हैं?
यूपीएससी आईपीएस के पेपर में इतिहास, भूगोल, संविधान, अर्थशास्त्र, सामान्य विज्ञान, सामान्य गणित इत्यादि सब्जेक्ट से प्रश्न आते हैं | और अधिक जानकारी के लिए यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट https://www.upsc.gov.in/ पर देखे |

मेंस एग्जाम क्या होता है?
यूपीएससी में लेने जाने वाली दूसरी परीक्षा को मेंस एग्जाम कहते है |

UPSC से क्या बनते है?
UPSC से आईएएस आईपीएस आईआरएस जैसे प्रशासनिक पदाधिकारी बनते है |

घर पर यूपीएससी की तैयारी कैसे करें?
अब घर पर भी आप यूपीएससी की तैयारी कर यूपीएससी पास करना आसान है, पिछले कुछ वर्षो में यूपीएससी के कुछ सफल उमीदवार में से कई उमीदवार घर पर ही यूपीएससी की तैयारी कर सफल हुए है | अब ऑनलाइन सुविधा होने के कारण घर पर यूपीएससी की तैयारी करना आसान हो गया है |

जीरो लेवल से यूपीएससी की तैयारी कैसे शुरू करें?
जीरो लेवल से यूपीएससी की तैयारी करने के लिए NCERT की बुक से पढ़ाई शुरू करें | यदि आपका बेसिक कमजोर है तो आप वर्ग 6 से NCERT की बुक से पढ़ाई शुरू करें और यदि आपका बेसिक ठीक ठाक है तो आप वर्ग 9 से NCERT की बुक से पढ़ाई शुरू करें |

This Post Has 3 Comments

      1. Satyanarayan

        Thank you so much sir

Leave a Reply